बबीता और शोभा की सेक्स कंपीटिशन (Babita aur Shobha ke Sex Competition)

Life ସରିଯିବା ଆଗରୁ
ଏହିପରି ମନରେ ଉଠୁଥିବା ସମସ୍ତ ପ୍ରଶ୍ନର ଉତ୍ତରପାଆନ୍ତୁ ମାତ୍ର ଗୋଟିଏ କ୍ଲିକ୍ ରେ ତେବେ ଡ଼େରି କାହିକି ଏବେ ଡାଉନଲୋଡ କରନ୍ତୁ ଭାଗ୍ୟ ଭବିଷ୍ୟ ଆପ୍
DOWNLOAD NOW

यह कहानी में सुनील और मेरी बीवी बबीता की गोवा हनीमून ट्रिप के बारे में है। मैंने और मेरे एक दोस्त राहुल ने इस ट्रिप का प्लानिंग किया था। लेकिन यह बात बबीता और सुनील की

 बीवी शोभा को मालूम नहीं था।

मै और बबीता, बीच में घूम रहे थे। शाम का वक्त था।उसी समय वहां और कुछ कपल्स भी थे। लेकिन वो सब अपने अपने अंडर गारमेंट में थे। मेरी नजर उन लेडीज के ऊपर से हट ते ही नहीं थे। बबीता ने मुझे उन सबको घूरते हुए देख लिया। उसको लगा कि में कोई दूसरी औरत के चक्कर में पड़ जाऊंगा। वह मुझे टोकते हुए बोली कि तुम उधर क्यूं देख रहे हो। मैंने उसको चिढ़ाने की कोशिश करते हुए बोला, वाओ क्या बूब्स है। बबीता को गुस्सा आ गया। उसने बोला, मेरा इतने दवाने से मन नहीं भरा, जो यहां वहां नजर डाल रहे हो।मैंने बोला, तुम्हारे बूब्स तो दवाता हूं, लेकिन इनकी अगर पकड़ लूं तो छोड़ूंगा नहीं। बबीता बोली,जाओ, मै बात नहीं करती, जाओ उन को पकड़ो, उनके दवाओ। यह बोल कर वहां रेत के ऊपर बैठ गई।

मै भी उसके पास बैठ गया। समंदर से आती हवा उसके साड़ी को आगे से सरिर के साथ जकड़ रही थी। उसकी 36 की बूब्स का उभर पूरा बाहर दिख रही थी। उस समय एक दोस्त राहुल और उसकी बीवी शोभा आ कर बैठ गई। मैंने देखा राहुल बबीता की बूब्स को देख रहा था, तो मैंने बबीता को इशारा किया, और बोला 

देखो उसकी बीवी शोभा कितनी हॉट है, फिर भी वह तुम्हें देख रहा है। 

बबीता बोली, तुम उसकी तरफ मत देखो। 

मैंने देखा कि शोभा अपनी टॉप को खोल के साइड मै रखी और पीछे हाथ करके और आगे पैर फैलेक बैठ गई। उस से उसके दोनों 36के बूस ऊपर की और क्या गजब दिख रहे थे।

 मैंने बबीता से बोला, देखो ,वह सायाद मुझे अपनी सेक्सी फिगर दिखा रही है, क्यूं ना तुम भी उसकी हजबेंड को अपना जलवा दिखाओ, देखते है कौन जीतता है। 

बबीता बोली, मुझे चैलेंज मत करो, मै उसको हरा दूंगी। 

मै बोला, तुमसे ना हो पायेगा। 

उस वक़्त शोभा के पीछे आ कर राहुल बैठ गया और आगे हाथ लेकर उसके बुस को मसलने लगा। वह दोनों हमारे और देख के हंस रहे थे। 

मैंने बबीता से बोला, देखो वह दोनों कैसे हम को चिढ़ा रहे है, तुम तो ऐसे ही गवार बं के बैठी रहो। बबीता अब सायद चैलेंज को स्वीकार करने के लिए तैयार हो गई। 

वह बोली, देखो में अब क्या करती हूं

, यह कह कर उसने अपनी साड़ी को छाती से हटा दिया। फिर अपने ब्लाउस को भी खोल दिया, वाओ क्या नज़ारा था, बबीता के ब्रा में कैद बूब्स, शोभा से किसी भी एंगल से कम नहीं था। वह दोनों बबीता की इस हरकत को देख के थोड़ी देर के लिए रुक गए , फिर स्माइल देके अपने काम में लग गए। राहुल ने उस शोभा की शॉर्ट को नीचे खींच दिया, तो वह पेंटी मै आ गई। उसकी चिकनी जांघों को देख कर मैंने बबीता को इशारा किया, तो बबीता ने भी अपनी पेटीकोट उतार फैंकी। बबीता भी अब सिर्फ ब्रा और पेंटी में आ गई। वह किसी फॉरेन मॉडल से कम नहीं दिख रही थी।ब्रा के ऊपर के हिस्से फूल कर क्लीवेज के दोनों और के उभर क्या गजब दिख रही थी। बबीता की गोरे गोरे थोड़ी सी गदराई पेट जैसे माखन कि तरह दिख रही थी। उसकी पतली कमर के नीचे उभरी हुई गान्ड किसी को भी पागल बना देगी, और उसके नीचे दोनों मोटे मोटे जांघ ,क्या बला की सेक्सी दिख रही थी। कुल मिला कर बोलो तो बबीता किसी पोर्न स्टार से कम नहीं लग रही थी। बबीता को देखकर शोभा थोड़ी असमंजस में आ गई,

 तो राहुल ने शोभा को बोला कोम ऑन कम अन, यू हैव टू विन।

ये सुन कर शोभा ने अपनी ब्रा को खींच ली, जिस से ब्रा की हुक टूट गई। उसकी दोनों गोल गोल नारियल जैसे बूब्स चैलेंज लगाके बाहर आ गए। क्या नज़ारा था। और वह हमारे और देख के अपने बूब्स को मसलने लगी,और बोली, 

यू कैन नट बिट मी।

इस से बबीता की अंदर की सेक्सी कामना जग उठी, और उसने भी अपनी ब्रा को जोर से खींच के निकाल दी। और शोभा के ऊपर फेंक दी, मगर उसकी लक्ष चूक गई और बबीता की ब्रा राहुल के मुंह पर लगा। ब्रा उतारने से बबीता की दोनों फुटबाल जैसे सफेद और चिकने बूब्स बाहर आ गए। मैंने बबीता को पीछे से पकड़ और आगे हाथ लेकर उसकी दोनो बूब्स को मसलने लगा। बबीता की ब्रा को सुनील अपने नाक के पास ले जाकर सूंघने लगा और बोला,

 व्हाट ए सेक्सी स्मेल।

इस से शायद शोभा को थोड़ा जलन हुआ। शोभा ने अपनी पेंटी उतार दी और पूरी नंगी हो गई, और पेंटीको मेरी मुंह के ऊपर फेंक दी।मैंने उसकी पेंटी को पकड़ा ,और बबीता के बूब्स के ऊपर उसको पकड़कर मसलने लगा। शोभा बीच पर पूरी नंगी खड़ी थी, उसकी चिकनी और गोल गोल गान्ड देख कर मेरा लन्ड पेंट के भीतर खड़ा हो गया। 

मैंने बबीता को बोला, देखो वह तो बहोट सेक्सी है, तुम शायद हार रही हो।उसकी बूब्स और गान्ड क्या कमाल की है, बस अभी जाकर दबा दबा के मसल दूं। 

बबीता बोली, रुको मै भी हार मान ने वाली नहीं हूं। 

बबीता जैसे पागल हो गई थी ।उसने भी अपनी पेंटी को एक झटके में ही उतार दी और उस औरत के मुंह में दे मारी। अब बबीता पूरी नंगी, जैसे ब्लू फिल्म की कोई इक्ट्रेस। उसकी बड़े बड़े बूब्स, उठी हुई गान्ड, मोटे मोटे जांघ, और जांघों के बीच चिकनी फुली हुई चूत, किसीको भी पागल कर दे। 

फिर मैंने शोभा की और देखा, ओह, क्या सेक्सी बॉडी , जैसे संगमरमर से बना एक नंगी अपसरी। उसकी चूत बबीता जैसे फुली हुई तो नहीं, लेकिन ज्यादा चिकनी थी।उसकी गान्ड जैसे पोलिस किया गया सफेद कांच का गोला, उसकी परफेक्ट गोल गोल, थोड़ी ऊपर उठी हुई बूब्स देख के मुझ से रहा नहीं गया, मैंने बबीता को उधर ही पकड़ किया और किस्स करने लगा, एक हाथ उसकी बूब्स को मसल रहा था, तो दूसरा हाथ उसकी गान्ड को दबा रहा था। फिर हम दोनों ने देखा कि शोभा सुनील को पूरा नंगा करके उसका लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी थी। उसकी सफेद मोटा लंड को शोभा ने दोनों हाथ में पकड़कर हमारे और दिखा दिखा कर हिला हिला कर उम…. आम…. पुच पूच करके चूस रही थी। बबीता ने हमेशा लंड को मुंह में लेने को मना करती थी, आज मुझे शायद मौका मिल गया। 

मैंने बबीता से बोला ,तुम तो पक्का हारने वाली हो, क्यूं की तुम तो ब्लो जॉब करोगी नहीं, फिर मै हंसने लगा। 

तब बबीता कुछ सोचने के बाद मुझसे बोली कि ,मुझे नहीं हारना है, जल्दी तुम अपना पैंट उतारो।

 मैंने अपना पैंट उतारा, तो बबीता खुद आ कर मेरे चड्डी उतार दी। मेरा 7इंच का फनफानाता लंड झटका खा कर बाहर निकल आया। तब बबीता मेरे लंड को पकड़ के थोड़ा आगे पीछे की।फिर मेरा सुपाड़ा बाहर निकाल के उसको चाटने लगी।बबीता शोभा की और नशीली आंखों से देख कर ब्लो जॉब करने लगी। शोभा अपनी चूसने कि रफ्तार को तेज कर दी, और सेक्सी सेक्सी आवाज़ करने लगी, तो बबीता भी अपने मुंह के लार से मेरे लंड को पूरा गीला करके चपर चपार करके जोर से चूसने लगी। 

राहुल बोला, शोभा आई एम कामिंग, ओह येस।

 तब शोभा राहुल का लंड मुंह से बाहर निकाली, और अपने गर्दन के पास ले जाकर जोर जोर से मुठ मारने लगी। शोभा कोम ऑन कोम ऑन बोल रही थी और राहुल का लंड की बहोत ही जोर से झटका दे रहि थी। तब राहुल ओह आह करके खुद की हाथ को शोभा के हाथ पर दबा कर मुठ मारने लगा।उस समय बबीता लंड तो मेरा चूस रही थी मगर उसकी नजर राहुल की लंड की और थी, जो कि अब ज्यादा कड़क होकर फूल चुका था। राहुल का लंड तब  जोरदार पिचकारियां मारा, जो शोभा की चेहरा और बूब्स के ऊपर धार धार बनके गिरा, फिर दोनों ऐसे ही नंगे रेत पर बैठ गए।

इधर बबीता मेरे लंड को उनकी और करके जोर से मुठ मारने लगी। वह दोनों खास कर शोभा मेरे लंड को एक ही नजर से देख रही थी। वह दोनों ऐसे ही देखते देखते हमारे करीब आ कर बैठ गए। हमारा और उनका दूरी सिर्फ चार या पांच फीट होगी। तब बबीता ने मेरे लंड को शोभा की और करके जोर से मुठ मारने लगी। मेरी नजर शोभा की बड़े बड़े चिकने बूब्स और चिकनी सपाट चूत पर ही था, मुझ में और ज्यादा उत्तेजना आ गया, फिर बबीता ने मेरे लंड को एक जोर का झटका मारा तो मेरा एक जोर दार बिर्य की धारा सीधा जा कर शोभा की मुंह के ऊपर पड़ा, फिर दूसरी धारा सोभा की बूब्स के ऊपर एक लाइन बना दिया। फिर बबीता ने मेरे लंड को अपनी ओर की तो तीन चार पिचकारी उस के चेहरे और बूब्स को नहला दिया। फिर हम भी वहां बैठ गए। 

तब हमने देखा कि राहुल लिटा हुआ था और शोभा हमारे और अपना गान्ड करके राहुल के लंड को चूस के खड़ा कर रही थी। मेरी नजर अब शोभा की मखमली गान्ड पर टिकी हुई थी, जो कि थोड़ी हिल रही थी। बबीता ने यह देख कर मेरे सामने आ गई और मेरे लंड को फिर से चूसने लगी। तब मैने देखा कि राहुल की नजर बबीता की मस्त उठी हुई गान्ड पर था। इसी वक़्त राहुल ने मुझे इशारा किया कि, बबीता बहुत सेक्सी माल है। तो मैंने भी उसको इशारा कर दिया कि में शोभा को चोदना चाहता हूं। 

फिर राहुल ने शोभा को कुछ इशारा किया, तो सोभा उसका लंड छोड़ के हमारी और मुडी।फिर शोभा आकर पीछे से बबीता को होग की, और एक हाथ से उसकी एक बूब्स को पकड़ ली, तो एक हाथ मेरे लन्ड को पकड़ी हुई बबीता के हाथ के ऊपर रख दी, जब बबीता मेरे लंड को छोड़ के पीछे मुड़ी, तो शोभा उसको पकड़ के उसकी होंठ को जोरदार किस किया। बबीता शोभा की ऐसे आक्रमण के लिए तैयार नहीं थी। वह शोभा से छूट ने कि कोशिश की, तो मैंने बबीता को इशारा किया कि यू हेव तो विन। फिर बबीता ने शोभा को नीचे लिटा दिया और उसकी होंठों को जोर से चूमने लगी। शोभा की दोनों बूब्स को बबीता मसलती जा रही थी ।शोभा भी अपने हाथोंको बबीता की उठी हुई चिकनी गान्ड पे रख के जोर से मसलने लगी।शोभा पीठ के बल लेटी थी और बबीता उसके ऊपर पेट के बल लेट कर जोर से किस्स कर रही थी। शोभा जो बबीता की गान्ड को मसल रही थी तो बबीता की गांड़ इधर उधर मचल रही थी। राहुल का लंड बबीता की चिकनी मांसाल गान्ड देख कर पूरा तन गया था, तो मैंने उसे इशारा किया कि वह जा कर शोभा और बबीता के मुंह के पास अपना लंड को रखे। राहुल ने वैसा ही किया ,जाकर उन दोनों की किस्स करती होठों के पास अपना लंड रख दिया। उन दोनों कि होठों से निकलती लार उसके लंड पर लगा। यह देख कर बबीता अपने होठों को शोभा की होठों से हटा ली। फिर शोभा कि कमर के ऊपर बैठ कर शोभा को राहुल का लंड चूसते हुए देखने लगी। इस वक्त राहुल अपना एक हाथ लेकर बबीता की एक बूब्स पर रख दिया। बबीता मुझे देख रही थी, तो मैने उसको इशारों से बोला नो प्रॉब्लम, फिर बबीता ने मुझे बुलाया और मेरा लन्ड हाथ में लेके चूसने लगी, इधर जब शोभा राहुल का लंड चूस रही थी, तो राहुल का हाथ बबीता की एक बूब्स को मसलना सुरु कर दिया। में भी सोभा के बूब्स को हाथ में लेके मसलने लगा। अब शोभा और बबीता दूसरे मर्द से अपने बूब्स दबाने से और ज्यादा उत्तेजित हो गए थे, तो अन दोनों की लंड चुसाई का स्पीड भी बढ़ गया था। उनकी मुंह से निकली लार से हमारे लंड पूरा सरसरा गया था। खाली फच फाच की आवाज़ आ रहा था। मैंने देखा बबीता जो शोभा की कमर के ऊपर बैठी थी, उसकी चूत शोभा की चूत को ऊपर से घिस रही थी, तो शोभा भी अपने चूत को ऊपर उठा उठा कर बबीता की चूत की साथ दे रही थी। दोनों के मुंह से उम्म आम्म ओह आह की आवाजें आने लगी। फिर हम दोनों ने उनके मुंह से अपना लंड खींच लिया और अलग हो गए। हम जानते थे कि बबीता और शोभा के ऊपर सेक्स अन इतना हावी को चुका है कि अब वे कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाएंगी।

 हमारे अलग होते ही शोभा बोली, प्लीज़ कम, आई वांट फाक। राहुल ने कहा, यस माई डार्लिंग, बट सुनील विल फ़्क्क यू।

 तो बबीता बोली नहीं, सुनील तुम मेरे पास आओ , मुझे अभी ही चुदानी ये,।

शोभा बोली, मुझ से और नहीं रहा जाता, जो भी हो बस मुझे अभी यहां चोद दे, 

यह कह कर वो राहुल को पकड़ने के लिए भागी।

 तब मैंने बबीता से बोला देखो शोभा के मस्त बूब्स कैसे हिल रहे है, और देखो उसकी चिकनी गान्ड कैसे लेफ्ट राइट कर रहे है। बबीता, शायद शोभा की जिस्म मुझे बुला रही है। यह के कर मैंने बबीता को बोला, सरी माई डार्लिंग, मुझे अभी शोभा को चोदने का मन कर रहा है।

 फिर मैंने शोभा की और दौड़ पड़ा ,तो बबीता भी नो नो कह कर दौड़ी। 

हम चारों अभी खुले आसमान के नीचे पूरे नंगे राहुल के पीछे शोभा, शोभा के पीछे मै और मेरे पीछे बबीता दौड़ रहे थे। शोभा और बबीता की बूब्स और गान्ड बड़े जोर से हिल रहे थे। मेरा और राहुल का लंड भी पूरा खड़ा हो कर सांप जैसे हवा में लहरा रहे थे। तभी जान बुझ के राहुल गोल गोल घूमने लगा। तो अब राहुल के आगे बबीता और मेरे आगे शोभा थे। तो मैंने शोभा को पकड़ लिया ।मेरा लन्ड उसके गान्ड पर दब गए। फिर मेरा हाथ उसकी दोनो बॉब्बे के ऊपर पहुंच गए। मैंने उसके गोल गोल नारियल जैसे बूब्स को मसलने लगा, और उसकी गर्दन पर साइड से किस्स करने लगा।

बाकी की कहानी next time . अगर यह कहानी को कंटिन्यू पढ़ना चाहते हैं तो कमेंट करे।

Note: All Stories And Characters Posted On This Website Are Completely Fictional And Are Intended For Children Over The Age Of 18. If You Would Like To Share Some Of Your Experience With Us, You Can Send It By Clicking On Post Your Story Or By Mailing It To Our Mail Id. Your name and Mail Id Will Be Kept Completely Confidential As Long As You Are Safe.

Our Mail Id:- Xnxxstoriesin@gmail.com

Post Your Story

Life ସରିଯିବା ଆଗରୁ
ଏହିପରି ମନରେ ଉଠୁଥିବା ସମସ୍ତ ପ୍ରଶ୍ନର ଉତ୍ତରପାଆନ୍ତୁ ମାତ୍ର ଗୋଟିଏ କ୍ଲିକ୍ ରେ ତେବେ ଡ଼େରି କାହିକି ଏବେ ଡାଉନଲୋଡ କରନ୍ତୁ ଭାଗ୍ୟ ଭବିଷ୍ୟ ଆପ୍
DOWNLOAD NOW

Post a Comment

0 Comments