ऑफिस गर्ल से प्यास बुझाई (Office Girl Sex Story)

Life ସରିଯିବା ଆଗରୁ
ଏହିପରି ମନରେ ଉଠୁଥିବା ସମସ୍ତ ପ୍ରଶ୍ନର ଉତ୍ତରପାଆନ୍ତୁ ମାତ୍ର ଗୋଟିଏ କ୍ଲିକ୍ ରେ ତେବେ ଡ଼େରି କାହିକି ଏବେ ଡାଉନଲୋଡ କରନ୍ତୁ ଭାଗ୍ୟ ଭବିଷ୍ୟ ଆପ୍
DOWNLOAD NOW

मेरा नाम विकाश है। मैं गुजरात की निगम नगर क़ालोनी में रहता हूँ। मैं 6 फ़ीट 1 इंच का हूँ। मेरी उम्र 36 साल है। मै देखने में कभी 26 साल का लड़का लगता हूँ। मै गुजरात की ही कंपनी में जॉब करता हूँ। उस कंपनी का मई H.R हूँ। सारे लोग मेरे नीचे ही काम करते हैं। मैं ही वो कंपनी भी संभालता हूं। मैंने ग्रैजुएशन के बाद ही मैंने वो कंपनी पकड़ी थी। आज तक मैं उसी कंपनी में जॉब ककर रहा हूँ। मुझे कंपनी की सारी लड़किया बहुत ही लाइन देती हैं। लेकिन मैं किसी की तरफ आँख उठाकर नहीं देखता था। मै देखने में बहुत ही स्मार्ट लगता हूँ। मैने अब तक कई लड़कियों को चोदकर उनका माल पीया है। मैंने कंपनी की सारी अच्छी लड़कियों को चोदकर छोड चुका हूँ। सारी लडकियां जान देती है मुझ पर लेकिन मैं किसी की तरफ आँख उठा कर देखता। लडकियां भी मेरे कंपनी की हमेशा चुदवाने को तैयार रहती हैं।

दोस्तों मैं एक शादी शुदा मर्द हूँ। मेरी शादी को तीन साल हो गए। शादी के बाद मैं हर रोज अपनी बीबी की चुदाई की प्यास बुझाता हूँ। मेरी बीबी भी बहुत ही लाजबाब लगती है। पहली बार में ही मैंने पसंद कर लिया था। उसी से शादी भी की। और अब उसी की चुदाई भी करता हूँ। लेकिन कोई भी हो। रोज रोज यकही चूत चोदकर सेक्स में कुछ ज्यादा मजा पाता। लेकिन मै किसी न किसी को चोदने को तैयार कर लेता हूँ। कंपनी में एक नई नई लड़की आयी थी। जिसका नाम टीना था। टीना देखने में बहुत ही लाजबाब लग रही थी। टीना की चूंचियां खूब बड़ी बड़ी थी। टीना को मैंने देखते ही पसंद कर लिया था। इस बार तो इसी की चुदाई करनी है। टीना को देखकर मैंने उस दिन मुठ भी मारी थी। टीना बहुत जी जोत और सेक्सी लगती थी।

उसके मम्मे ही पूरी बाड़ी में जबरदस्त लग रहे थे। टीना की चूंचिया पीने के लिए मैं बेकरार था। मैं टीना को चोदने की प्लानिंग बना रहा था। अचानक एक दिन टीना से मेरी मुलाकात एक चौराहे पर बाहर हुई। कंपनी में बात करने पर सबको लग जाता था कि इनका इनका कोई मामला है। टीना ने मुझे देख कर बुलाया। पानी बरस रहा था। हम दोनों वही पास की होटल पर चाय पीने लगे। टीना को देख कर मेरा लौड़ा बहुत ही तेजी से खड़ा होता जा रहा था। अचानक टीना ने भी मेरे लौड़े की तरफ देख लिया। मै तो डर गया। कही ये गुस्सा होकर हाथ से न निकल जाये। मैंने टीना को कंपनी के बारे में बता कर टॉपिक से भटकाने लगा। टीना मेरा लौड़ा ना देखकर मेरी तरफ देख रही थी। टीना का मेरी तरफ देखना कयामत ढाना था। उसके आँखों में लगा काजल मुझे बहुत जी अच्छा लग रहा था। उसके बोलने पर उसके नाजुक होंठ ऊपर नीचे होकर मेरे लंड पर प्रेसर बढ़ा रहे थे। मन करता था कि उसके होंठो को काट काट कर उसके होंठ के सारे रस को पी जाने को मन करता था।

Office-Girl-Sex-Story

टीना बहुत ही झक्कास लग रही थी। मैं वहाँ से चला आया। कुछ देर तक बात करने के बाद मैंने टीना से बाद में बात करेंगे कहके चला आया। मैंने घर पर आते ही मुठ मार कर लौड़े को शांत किया। मेरा लौंडा बार बार खड़ा हो रहा था। मैंने उस दिन अपनी बीबी की खूब चुदाई की। मेरी बीबी बी आश्चर्य में थी। आज उसकी इतनी चुदाई क्यों हो रही हूं। मेरी बीबी ने भी खूब मजे ले ले कर चुदवाया। दूसरे दिन मै जब ऑफिस में बैठा था। तो उधर से टीना को जाते देखा। मैंने टीना को बुलाया। टीना मेरी ऑफिस के केबिन में आ गई। मैंने उसे बैठने को कहा। टीना बैठ गई। मैंने उससे उसकी पोस्ट पूंछा। उसने अपना छोटा पोस्ट बताया। टीना मुझे सर सर कर रही थी। मैंने कहा समझ लो मै तुम्हारा फ्रेंड हूँ। कब आज के बाद तुम सर नहीं विकाश बोलोगी। टीना ने कहा ठीक है। मेरी और टीना की अच्छी दोस्ती हो गई।

एक दिन टीना के पास बैठे बैठे

मैंने कहा- “टीना मै तुम्हारा बॉयफ्रेंड हूँ”

टीना- “लेकिन कैसे मैंने तो तुम्हे फ्रेंड ही माना है”

मै- “देखो मैं बॉय और फ्रेंड भी तो हो गया ना बॉयफ्रेंड” टीना हँसने लगीं।

लेकिन उसे मेरे शादी के बारे में कुछ पता नही था। उसने मुझे अपना बॉयफ्रेंड बना लिया। लेकिन वो मुझे किस से ज्यादा कुछ करने ही नहीं देती थी। लेकिन मुझे तो उसकी चूत चाहिए थी। उसकी चूत को चोदने को मेरा लौंडा बेकरार था। मैंने टीना को बहुत मनाया लेकिन वो नहीं मानी। एक दिन टीना के घर पर कोई नहीं था। उसने मुझे फ़ोन करके बुलाया। उस दिन संडे था। मैंने तुरन्त ही उसके घर चला गया। टीना मेरा ही इन्तजार कर रही थी। जैसे ही मैंने वेल बजाया। टीना ने तुरंत ही दरवाजा खोला। मैंने टीना को पकड़ कर एक बॉयफ्रेंड की तरह उससे मिलने लगा।

मैंने टीना को उठा लिया। कुछ देर बाद टीना को मैने नीचे कर दिया। मैंने टीना के गालो पर जोर का किस किया। टीना के गाल पर किस करते करते। मैंने टीना की होंठ को भी किस करने लगा। मैंने अब तक टीना के होंठो पर ऐसे किस नहीं किया था। टीना को भी चाहिए प्रमोशन था। इसीलिए टीना मेरी मदद ले रही थी। मुझे खुश करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही थी। मैं टीना की होंठों पर अपने होंठ रख कर किस कर रहा था।

टीना- “तुम मेरा प्रमोशन क्यों नहीं करवाते”

मैं- “मुझे क्या मिलेगा तुम्हारी प्रमोशन करवा के”

टीना- ” जैसा सबका होता है वैसे ही मेरा भी करवा दो”

मैंने कहा- “ठीक है लेकिन तुम्हे भी मेरा कुछ काम करना होगा”

टीना- “कैसा काम बताओ मै कर दूँगी”

मैंने कहा- “तुम मुझे अपने निप्पलों को पिलाओगी”

टीना- ” तुम्हारी तो नियत ही खराब है”कहकर टीना मुस्कुराने लगी।

मैंने कहा- “बॉयफ्रेंड जो तेरा हूँ”

इतना कहकर टीना को कपनी बाहों में कस कर जकड लिया। टीना मेरी आँखों में देख रहीं थी। मैंने अपना लौड़ा खड़ा किया। मैंने टीना की नाजुक होंठो को चूसने के लिए। अपना होंठ टीना की होंठो से चिपका दिया। टीना की होंठ को चूसने में बहुत मजा आ रहा था। टीना की दोनों पंखुडियो जैसी होंठ को मै पी रहा था। टीना भी मेरे होंठों को अच्छे से चूस रही थी। टीना के होंठ चूसते ही मेरी भी चूंसने की स्पीड बढ़ जाती थी। टीना अचानक मेरे होंठों को पीना धीमा कर दिया। मैंने तो टीना के होंठ को खूब मजे ले ले कर पीने में मस्त था। टीना की साँसे तेज हो रही थी। मुझे पता था। अगर मैं टीना को गरम कर दूंगा तो वो चुदवा भी लेंगी। मैंने टीना की होंठो को ही पी पी कर खूब गर्म कर दिया। टीना अपने दांतों से मेरे होंठो को काट रही थी।

टीना की चूंचियो की तरफ मैंने देखकर टीना को और जोर से किस करने लगा। टीना भी मेरा साथ देने में कोई कसर नहीं छोड रही थी। टीना के मुँह में मै अपनी जीभ डाल कर मै टीना की जीभ को भी चूस रहा था। टीना भी मेरी तरह मेरे मुँह में जीभ डालकर मेरी जीभ तक की चुसाई कर रही थी। टीना को मैंने अब और जकड लिया। टीना की सांस फूलने लगी। टीना की चूंचियो पर मैंने अपना हाथ रख दिया। टीना ने कोई विरोध नहीं किया। टीना का विरोध न करना। मेरी हिम्मत बढ़ा रहा थी। मैंने टीना की चूंचियो को धीऱे धीऱे दबाना शुरू किया। कुछ देर बाद मैंने टीना की होंठों को चूस चूस कर उसकी चूंचियो को जोर जोर से दबाने लगा। टीना की सिसकारियां अब धीमे से तेज हो गई। टीना अब थोड़ा तेज तेज “…अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ…आहा …हा हा हा” की सिसकारियां लेने लगी।

टीना ने उस दिन हाफ लोअर और टी शर्ट पहने हुई थी। टीना उस दिन काले रंग की टी शर्ट में कुछ ज्यादा ही सेक्सी लग रही थी। टीना की चूंचियां बहुत ही उभरी हुई थी। उसकी चूंचियो का निप्पल बाहर से उभरा हुआ लग रहा था। मैंने टीना की चूंचियों के निप्पल को ऊपर से ही दबा दिया करता था। टीना की चूंचियो का निप्पल दबाते ही टीना सिमट जाती। उसकी चूंचियां ऊपर उठ जाती थी। लेकिन मैंने फिर भी उसे तड़पाने के लिए ये सब कर रहा था। टीना की चूंचियों को दबा दबा कर मैंने टीना को खूब गर्म कर दिया। मैंने टीना की चूत की तरफ अपना हाथ बढ़ा कर टीना की चूत पर अपना हाथ रख दिया। मैंने अपना हाथ टीना की लोअर में डालकर उसकी चूत में ऊँगली करने लगा। टीना सिमट कर मुझसे चिपक गई। टीना के चिपकते ही मैं टीना की चूत में अच्छे से उँगली करने लगा। टीना की चूत गीली हो रही थी।

मैंने अपने एक हाथ से टीना की टी शर्ट को निकालने लगा। टीना ने अपनी टी शर्ट निकलवा ली। अब टीना का भी मन चुदने को हो रहा था। टीना की टी शर्ट को निकाल कर मैंने टीना को ब्रा में कर दिया। टीना की फूली चूंची ब्रा में बहुत ही जबरदस्त लग रही थी। टीना ने सफेद रंग का ब्रा पहना था। मैंने टीना की ब्रा का हुक खोल कर टीना की ब्रा को निकालने लगा। टीना ने खुद ही अपनी ब्रा को निकाल कर अपने हाथों में लिए हुए खड़ी थी। मैंने टीना को उसी के पास पड़े सोफे पर लिटाकर। मैंने टीना की चूंचियो को दबा कर उसका निप्पल अपने मुयः में भर लिया। अपने में टीना की ब्रा को लिए लेट गई। टीना ने अपनी ब्रा एक किनारे रख कर मुझे अपने चूंचियो से चिपकाने लगी। मैं टीना की चूंचियो को पीने में मस्त था। टीना की चूंचियो को पीने में बहुत मजा आ रहा था। टीना की चूंची को मैं अपने दांतों से काट काट कर होंठो से खींच रहा था। मैंने भी टीना की चूंचियो की चुसाईं को तेज कर दिया। टीना की चूंचियो को मैने खूब चूसा। टीना की चूंचियो को काटते ही टीना की आवाज बदलकर “ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ …ऊँ…ऊँ… ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा… ओ हो हो…” की निकलने लगती थी।

टीना की चूंचियो को पीकर मैंने टीना को गर्म किया। मैंने भी अब अपना सुपारा निकाला। टीना ने मेरे सुपारे को देखकर लपकी। मैंने भी झट से अपना सुपारा टीना की हाथो में रख दिया। टीना मेरे 10 इंच के मोटे लौड़े के साथ खेल रही थी। टीना मेरे लौड़े को पकड़ कर खींच रही थी। मेरे लौड़े का टोपा कभी ढक देती तो कभी उसे निकाल कर देखने लगती थी। मुझे इसका ये सब करना बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने अपना लौड़ा टीना की मुँह में रख दिया। टीना मेरे लौड़े को चूंसने लगी। टीना के लौड़ा चूसते ही मेरा लौड़ा और बड़ा होने लगा। टीना की चूंचियो को मैंने अपने हाथों से झुकाकर खूब तेज दबा दिया। टीना अपनी हाथो से मेरे लौड़े को मुठिया कर मुठ मार मार कर चूस रही थी। टीना को लौड़ा चुसाने में बहुत मजा आ रहा था। मैंने टीना को मुह में ही चोदना शुरू किया। टीना मेरा लौड़ा खा ही जाना चाहती थी।

मैंने टीना को लौड़ा चुसा कर टीना से उसकी लोअर निकालने को कहा। टीना ने सिर्फ चूंचियों को पीने के लिए बोली थी। लेकिन मैं तो उसे चोदने तक का गर्म कर चुका था। टीना भी अब चुदवाने को तड़प रही थी। मैंने टीना की लोअर को निकाल दिया। टीना अब पैंटी में मेरे सामने लेती हुई थी। टीना को पैंटी में देखकर। मेरा लौड़ा बेकाबू होता जा रहा था। मैंने टीना की पैंटी को भी निकाल दिया। टीना की पैंटी को निकालते ही मुझे उसके चिकनी चूत के दर्शन होने लगे। टीना की चूत को देखने के लिए। टीना की दोनों टांगो को फैला दिया। टीना की टांगों को फैलाते ही टीना की चिकनी गोरी साफ़ चूत अच्छे से दिखने लगी। टीना की चूत को देखते ही मुँह में पानी आ गया। मैंने टीना की चूत को चाटने के लिए अपनी जीभ टीना की चूत से लगा दिया। टीना की चूत को मैंने अपने जीभ से चाटना शुरू किया। टीना की चूत को मुँह में रखते ही टीना की सिअकारियां निकलने लगी। टीना की चूत के दोनों टुकड़ो को मैं बारी बारी पी रहा था।

टीना मेरा सर पकड़कर अपनी चूत में घुसा रही थी। टीना की चूत को मैंने पीकर टीना को तड़पा रहा था। टीना अपनी चूत को मसल रही थी। टीना की चूत में अब खुजली होने लगी। मैंने टीना के चूत के दाने को अपने होंठो से पकड़कर खींच रहा था। टीना की चूत का दाना खींचते ही टीना जोर से अपनी चूत उठाकर “….मम्मी. ..मम्मी…सी सी सी सी…हा हा हा ….ऊऊऊ …ऊँ…ऊँ..ऊँ…उनहूँ उनहूँ…” की आवाज निकालने लगती थी। मैंने टीना को खूब तड़पाया। टीना की चूत को चाटकर मैंने अपना लौड़ा टीना की चूत पर रख कर रगड़ने लगा। टीना की चूत पर लौड़ा रगड़ते रगड़ते मेरे लौड़े का सुपारा और टीना की चूत दोनो ही लाल लाल हो गए। मैंने टीना की चूत के छेद पर अपना अपना लौड़ा रख कर खूब तेज धक्का मारा। मेरे लौड़े का सुपारा अंदर टीना की चूत में घुस गया। टीना की चूत में मैंने और जोर का धक्का मारा। टीना की छूट में इस बार पूरा लौड़ा घुस गया। टीना की चूत में लौड़ा घुसते ही टीना जोर से चिल्लाने लगी।

आआआअह्हह्हह…ईईईईईईई…ओह्ह्ह्हह्ह….अई…अई..अई…अई…मम्मी….” की आवाज से पूरा हाल गूँज उठा। टीना की चूत फट गई। टीना की चूत को मैं अंदर तक चोद रहा था। मैंने अपना लौड़ा जड़ तक टीना की चूत में पेलने लगा। टीना की चूत खूब दर्द कर रही थी। टीना की चूत को फाड़कर उसका भरता बना रहा था। टीना की चूत कुछ दे बाद दर्द आराम हुआ। मैंने टीना की एक टाँग उठाकर उसे खड़ा कर दिया। टीना की चूत को मै जोर जोर से चोदने लगा। टीना की चूत की चटनी बना रहा था। टीना “…उंह उंह उंह..हूँ ..हूँ…हूँ…हमममम अहह्ह्ह्हह…अई….अई…अई…” की आवाज के साथ चुदवा रही थी। मैं लगातार टीना की चूत को फाड़ कर भरता बना रहा था। टीना की की कमर पकड़ कर टीना की चुदाई बहुत तेजी से मै करने लगा। कुछ देर बाद मैं थक गया। मै सोफे पर लेट गया। टीना की चूत की खुजली अभी शांत नहीं हुई थी। टीना मेरा लौड़ा पकड़ कर कर उस पर अपने चूत को सटाकर जोर जोर से उछल उछल कर चुदवा रही थी।

मैंने टीना खूब तेज तेज चुदाई करवाके मेरे लौड़े से माल निकलवाने पर मजबूर कर दिया। टीना ने करीब 25 मिनट तक मेरे लौड़े पर उछल उछल कर चुदवाई। मैंने टीना को नीचे बैठा कर मुठ मारने लगा। टीना मेरा लौड़ा अपने मुँह में रख कर लौड़ा चूसने लगी। मैंने अपना लौड़ा पूऱा माल टीना की मुँह में गिऱा दिया। टीना ने मेरा सारा माल पी लिया। टीना और हम दोनो लोग नंगे ही लेटे रहे। टीना की गांड़ भी बाद में मैंने मारी। टीना को अब जब भी मौक़ा मिलता है। मै उसे चोदने जरूर जाता हूँ।

Note: All Stories And Characters Posted On This Website Are Completely Fictional And Are Intended For Children Over The Age Of 18. If You Would Like To Share Some Of Your Experience With Us, You Can Send It By Clicking On Post Your Story Or By Mailing It To Our Mail Id. Your name and Mail Id Will Be Kept Completely Confidential As Long As You Are Safe.

Our Mail Id:- Xnxxstoriesin@gmail.com

Post Your Story

Life ସରିଯିବା ଆଗରୁ
ଏହିପରି ମନରେ ଉଠୁଥିବା ସମସ୍ତ ପ୍ରଶ୍ନର ଉତ୍ତରପାଆନ୍ତୁ ମାତ୍ର ଗୋଟିଏ କ୍ଲିକ୍ ରେ ତେବେ ଡ଼େରି କାହିକି ଏବେ ଡାଉନଲୋଡ କରନ୍ତୁ ଭାଗ୍ୟ ଭବିଷ୍ୟ ଆପ୍
DOWNLOAD NOW

Post a Comment

0 Comments